अमेरिका के इतिहास का सबसे काला दिन 9/11, तीन हजार लोगों ने गंवाई थी जान

आज से ठीक 18 साल पहले 11 सितंबर 2001 को अमेरिका में हुए सबसे बड़े आतंकी हमले ने पूरे विश्व को हिला कर रख दिया था। इस हमले में 3000 मासूम लोगों ने अपने प्राण गंवाए थे।


11 सितंबर 2001 की सुबह हर दिन की तरह ही वर्ल्ड ट्रेड सेंटर में करीब 18,000 कर्मचारी रोजमर्रा का काम कर रहे थे, लेकिन 8 बज कर 46 मिनट पर जो हुआ, वह किसी ने सोचा भी नहीं था। 19 आतंकियों ने चार विमान हाईजैक किये। आतंकियों ने उनमें से दो विमानों को वर्ल्ड ट्रेड सेंटर, न्यूयॉर्क शहर के ट्विन टावर्स से भिड़ा दिये, जिसके चलते विमानों में सवार यात्री और अंदर काम कर रहे अनेकों लोग मारे गये। दो घंटे के अंदर दोनों इमारतें ढह गयी। आतंकियों ने तीसरे विमान को वांशिगटन डीसी के बाहर, आर्लिंगटन, वर्जीनिया में पेंटागन से टकरा दिया और चौथा विमान शेंकविले के खेत में क्रैश हुआ।   

तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति जॉर्ज बुश ने इस घटना को अमेरिका के इतिहास का सबसे काला दिन करार दिया था।


प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.