सीएए अगर बंगाल में लागू नहीं किया गया तो लग सकता है राष्ट्रपति शासन

कोलकाता, 19 दिसंबर। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को लेकर देश भर में विरोध-प्रदर्शन लगातार जारी है। वहीं, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी mख्त लफ्जो में इसकr विरोधिता करते हुए पहले ही कह चुकी हैं कि बंगाल में इसे लागू नहीं करने देंगी।


सीएए को लेकर मुख्यमंत्री खुद सड़क पर उतर चुकी हैं। अब ऐसे में बंगाल में अगर इस कानून को लागू नहीं किया गया तो राष्ट्रपति शासन लगना तय है। चूंकि संसद के दोनों सदनों से पास होकर राष्ट्रपति के हस्ताक्षर के बाद अब यह कानून बन चुका है। ऐसे में एक मात्र केंद्र सरकार ही कानून को रद्द कर सकती है।

वहीं, विशेषज्ञों का मानना है कि अगर राज्य सरकार इस कानून को यहां लागू करने से मना करती है तो राज्य में राज्यपाल के जरिए धारा 356 यानि राष्ट्रपति शासन लागू किया जा सकता है।


(इंटरनेट फोटो)

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.