देवी प्रतिमाओं के विसर्जन के साथ ही पांच दिवसीय दुर्गापूजा उत्सव संपन्न

उत्तर बंगाल, 9 अक्टूबर (नि.सं.)। राज्य भर में दुर्गा प्रतिमाओं के विसर्जन के साथ ही पांच दिवसीय दुर्गापूजा उत्सव संपन्न हो गया। हालांकि, कई स्थानों पर प्रतिमाओं का विसर्जन आज किया जायेगा।


उत्तर बंगाल में भी कल प्रतिमा विसर्जन की धूम रही। शहरों और गांवों में मां की प्रतिमाओं के साथ शोभायात्राएं निकाली गयी, जिनमें लाखों लोग शामिल हुए। इसके बाद समीपवर्ती नदियों और तालाबों में माता की प्रतिमाओं का विसर्जन संपन्न हो गया।

इस्लामपुर से मिली खबरों के अनुसार पूरे राज्य के साथ-साथ इस्लामपुर में भी धूमधाम से दुर्गा पूजा विसर्जन संपन्न हो गया। जिले के कालियागंज रायगंज और इस्लामपुर में इस अवसर पर दुर्गा पूजा समितियों ने रंगारंग शोभायात्रा निकाली। प्रतिमा के साथ श्रद्धालुओं ने पूरे शहर की परिक्रमा की। इस्लामपुर में सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल के पीछे नगरपालिका द्वारा नियंत्रित तालाब में प्रतिमाओं का विसर्जन किया गया। उधर, कालियागंज में श्रीमती नदी के घाट पर दुर्गा प्रतिमाओं का विसर्जन संपन्न हुआ इससे पहले महिलाओं ने देवी प्रतिमाओं पर सिंदूर और प्रसाद चढ़ा माता की पूजा आराधना की।


खोरीबाड़ी से मिली खबरों के अनुसार मां दुर्गा की विदाई के साथ ही मंगलवार को दुर्गापूजा उत्सव का समापन हो गया। खोरीबाड़ी के समीपवर्ती ठाकुरगंज शहर में विराजमान रहीं मां दुर्गा की प्रतिमाओं को विजयादशमी पर मंगलवार को विदाई दी गई। संध्या समय से विभिन्न तालाबों और नदियों में दुर्गा प्रतिमाओं के विसर्जन का सिलसिला शुरू हो गया था जो देर रात तक चलता रहा। संध्या छह बजे भातडाला तालाब में लाहिड़ी पूजा मंडप की पहली प्रतिमा विसर्जित की गई। इसके बाद रेलवे  इंजीनियरिंग पूजा पंडाल पर विराजमान प्रतिमा को विसर्जित किया गया इसके बाद लगातार प्रतिमाओं के विसर्जन का सिलसिला चलता रहा।

राज्य के अन्य स्थानों पर भी प्रतिमाओं का विसर्जन परम्परागत रूप से किया गया।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.