पाकिस्तान को हरा कर आज ही के दिन टी20 चैंपियन बना था भारत

12 साल पहले आज ही के दिन यानी 24 सितंबर 2007 को भारतीय क्रिकेट टीम ने महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में पहला आईसीसी टी20 विश्व कप जीत कर इतिहास रचा था। पहला टी20 विश्व कप 2007 में खेला गया और युवा कप्तान और खिलाड़ियों की टीम इंडिया ने यह खिताब अपने नाम किया। भारत ने पाकिस्तान को 5 रनों से हराया था। सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया को शिकस्त दे इंडिया फाइनल में पाकिस्तान से भिड़ी। इस मैच का टॉस भी टीम इंडिया के ही हित में आया।


भारत के बल्लेबाजों में सबसे अधिक रन (75) इस मैच में गौतम गंभीर ने बनाये। आज की तुलना में देखें तो भारत का 20 ओवरों में 157 रन बनाना कोई बड़ा स्कोर नहीं था, लेकिन मेन इन ब्लूज़ ने हार नहीं मानी। जवाबी पारी में पाकिस्तान की शुरूआत काफी खराब रही। पहले ही ओवर में भारतीय गेंदबाज आर.पी. सिंह ने पाक ओपनर मोहम्मद हफीज को वापस पवेलियन भेज दिया। 20 ओवरों से पहले ही पाकिस्तान की पूरी टीम सिमट कर रह गयी।

इरफान पठान ने पाकिस्तान के खतरनाक ऑलराउंडर यासिर अराफत को चलता किया और श्रीसंत ने सोहेल तनवीर को आउट किया। इस मैच में टीम इंडिया के लिये बड़ी मुश्किल मिसबाह उल हक रहे, जो भारतीय गेंदबाजों पर हावी हो रहे थे। जीत के लिये पाकिस्तान को एक ओवर में 13 रनों की जरूरत थी। ओवर की पहली बॉल डॉट बॉल रही और दूसरी गेंद पर मिसबाह ने छक्का जड़ा। अब पाकिस्तान को 4 गेंदों पर शेष सिर्फ 6 रन चाहिये थे।


खुशी मना रहे भारतीय प्रशंसकों के बीच उस वक्त सन्नाटा था। इसके बाद जो हुआ, उसने एक इतिहास रचा। अगली बार जोगिंदर शर्मा ने एक ललचाई गेंद फेंकी और मिसबाह छक्के के लिये लपके, लेकिन इस बार गेंद श्रीसंत के हाथों में थी। श्रीसंत ने बॉल कैच कर पाकिस्तान की टीम को ऑलआउट करने के साथ ही भारत पहले टी20 विश्वकप का चैंपियन बना।

(इंटरनेट फोटो) 

 

 

 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.