पानी-पानी हुआ उत्तर बंगाल

मानसून के शुरू होते ही सिलीगुड़ी सहित पूरे उत्तर बंगाल में बाढ़ का कहर शुरू हो गया है। कल शाम से लगातार बारिश के चलते सिलीगुड़ी शहर के कई इलाके जलमग्न हो गये हैं। शहर संलग्न फूलबाड़ी इलाके में सड़के जैसे तालाब बन गयी हैं। रामनगर मजदूर बस्ती इलाके में दूर-दूर तक सिर्फ पानी ही दिखाई दे रहा है। साहुडांगी इलाके में भी कमोबेश यही हाल है। शहर में जलनिकासी की हालत खराब होने से कई इलाकों में नालियों का पानी सड़कों पर है और लोगों का हाल बेहाल है। शहर के 46 नंबर वार्ड के चंपासारी पवित्रनगर, वार्ड 40 के दुर्गानगर, वार्ड 35 के शहीद कॉलोनी, शहर के चयनपाड़ा, शहर संलग्न घोगोमाली आदि इलाके के लोग जलजमाव से परेशानियों में घिर गये हैं। कमोबेश शहर के कई इलाकों में हाल बुरा है। महानंदा समेत अन्य नदियों में जलस्तर काफी बढ़ गया है। महकमे के खोरीबाड़ी सहित अन्य कई इलाकें भी जलमग्न हैं। एनजेपी रेलवे स्टेशन पर पटरियों पर पानी भर गया है, जिसके चलते रेल परिसेवा भी प्रभावित हुई है। 


उधर, कूचबिहार से मिली खबरों के अनुसार लगातार बारिश से जिले में विभिन्न नदियो का जलस्तर बढ गया है। जिले की तोर्षा, मानसाई,रायडाक,कालजानी आदि नदियों का जलस्तर काफी बढ गया। प्रशासन की तरफ से रायडाक नदी के लिये रेड अलर्ट जारी किया गया है।


इसके साथ ही मानसाई नदी मे यलो अलर्ट जारी किया गया है। तूफानगंज मे रायडाक नदी का जलस्तर बढ़ने से नदी संलग्न इलाके के लोग घर छोड़ कर राहत शिविरों में आश्रय ले चुके हैं।करीब दो सौ परिवारों ने यहां राहत शिविरों में शरण ली है। ज्ञात हो कि अभी और बारिश की आशंका जतायी गयी है।

इधर, जलपाईगुड़ी से मिली खबरों के अनुसार जिले की कई नदियां उफान पर हैं। इसके चलते जलपाईगुड़ी जिले के विभिन्न गांवों और सिलीगुड़ी के समीप फाराबाड़ी, भेल्कीपाड़ा, आदर्शपल्ली सहित कई इलाकों में बाढ़ की स्थिति देखी जा रही है। घरों में पानी घुसने से लोगों पर आफत आ गयी है। इसके चलते लोगों की दिनचर्या बुरू तरह प्रभावित हुई है। कई इलाकों में लोगों को खाना भी नसीब नहीं हो रहा। आशंका जताई जा रही है कि बारिश नहीं रुकी तो पानी और बढ़ सकता है। लोगों का आरोप है कि प्रशासन का कोई प्रतिनिधि उनकी मदद को आगे नहीं आ रहा है।

अलीपुरद्वार से मिली खबरों के अनुसार भूटान पहाड़ इलाके में लगातार बारिश के चलते बानिया नदी का जलस्तर काफी बढ़ गया है। कालचीनी प्रखंड के दक्षिण साताली व पश्चिम साताली गांव में बानिया नदी का पानी घुसना शुरू हो गया है। उधर, गयेरकाटा सहित डुआर्स के अन्य इलाके भी बाढ़ की चपेट में हैं।

उत्तर बंगाल के अन्य तीन जिले उत्तर दिनाजपुर, दक्षिण दिनाजपुर और मालदा में भी नदियां उफान पर हैं, जबकि पहाड़ी इलाके में लोग अपने घर में ही बंद होने को मजबूर हो गये हैं।

न्यूज ब्यूरो सिलीगुड़ी टाइम्स

 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.