उपलब्धियों से भरा रहा लता मंगेशकर का छह दशकों का कार्यकाल

सुरों की मल्लिका, जिनका छह दशकों का कार्यकाल उपलब्धियों से भरा रहा ऐसी महान गायिका लता मंगेशकर का आज 90वां जन्मदिन है। इस मैके पर बॉलिवुड की तमाम हस्तियों और उनके चाहने वालों ने उन्हें बधाई दी। स्वर कोकिला और भारत रत्न से नवाज़ी जा चुकीं लता मंगेशकर की आवाज का जादू 50 से भी ज्यादा सालों से लोगों का दिन जीत रहा है।  


लता मंगेशकर का जन्म 28 सितंबर 1928 को मध्यप्रदेश के इंदौर में मराठी ब्राम्हण परिवार में हुआ था। इनके पिता पंडित दीनानाथ मंगेशकर रंगमंच कलाकार एवं गायक थे। गायन की कला इन्हें विरासत में मिली। लता जी ने लगभग पांच वर्ष की उम्र में एक नाटक में कार्य किया था। अपने करियर की शुरुआत में लता मंगेशकर ने कई फिल्मों में बतौर अभिनेत्री कार्य किया, लेकिन इनकी असली पहचान एक महान गायिका के तौर पर ही है। 1974 में सबसे ज्यादा गाने गाने का गिनीज वर्ल्ड रिकोर्ड भी लता मंगेशकर के नाम ही दर्ज है। लता जी ने 20 भाषाओं में 30,000 गाने गाये हैं।

 


लता जी को मिले पुरस्कारों की सूचि

  • फिल्म फेयर पुरस्कार (1958, 1962, 1965, 1969, 1993 और 1994)
  • राष्ट्रीय पुरस्कार (1972, 1975 और 1990)
  • महाराष्ट्र सरकार पुरस्कार (1966 और 1967)
  • 1969 - पद्म भूषण
  • 1974 - दुनिया में सबसे अधिक गीत गाने का गिनीज़ बुक रिकॉर्ड
  • 1989 - दादा साहब फाल्के पुरस्कार
  • 1993 - फिल्म फेयर का लाइफ टाइम अचीवमेंट पुरस्कार
  • 1996 - स्क्रीन का लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार
  • 1997 - राजीव गान्धी पुरस्कार
  • 1999 - एन.टी.आर. पुरस्कार
  • 1999 - पद्म विभूषण
  • 1999 - ज़ी सिने का लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार
  • 2000 - आई. आई. ए. एफ. का लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार
  • 2001 - स्टारडस्ट का लाइफटाइम अचीवमेंट पुरस्कार
  • 2001 - भारत का सर्वोच्च नागरिक सम्मान "भारत रत्न"
  • 2001 - नूरजहाँ पुरस्कार
  • 2001 - महाराष्ट्र भूषण

 

 

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.