बीमार पति के इलाज के लिए पत्नी ने लगाई मदद की गुहार

सिलीगुड़ी, 22 सितंबर (नि.सं.)। पौराणिक कथाओं में सावित्री ने अपने पति सत्यवान के प्राण यमराज से वापस ले आई थी। लेकिन संयोग से कलयुग में भी एक महिला ने अपने पति को स्वस्थ कर पैरों पर खड़ा करने के लिए आर्थिक संकट के बावजूद दिन-रात सेवा कर रही है। महिला का नाम अंकिता चक्रवर्ती है।


वह सिलीगुड़ी देशबंधु पाड़ा के पीसी सारणी रोड की रहने वाली है। दरसल अंकिता चक्रवर्ती का पति दिवाकर चक्रवर्ती पिछले पांच महीनों से विभिन्न गंभीर बीमारियों से ग्रसित है। स्थिति इतनी नाजुक है कि दिवाकर बिना किसी के सहारे बिस्तर से नीचे उतर नहीं सकता। अपने पति की यह दशा देख पत्नी अंकिता ने आर्थिक अभावों के बीच पति को पैरों पर खड़ा करने के लिए दिन रात सेवा कर रही है। इसके साथ ही लोगों से मदद की गुहार भी लगाई है।

अंकिता चक्रवर्ती ने सिलीगुड़ी टाइम्स से बात करते हुए कहा कि उनका पति दिवाकर चक्रवर्ती दार्जिलिंग के सिंगताम चाय बागान में काम करता था। लेकिन जून महीने से शारीरिक स्थिति खराब होने के बाद उनका चिकित्सा शुरू किया गया। चिकित्सकों ने उन्हें बताया कि उनके पति का हार्ड ब्लॉकेज है। साथ ही किडनी भी संक्रमित हो चुका है। जिसके बाद उन्होंने सिलीगुड़ी के तमाम बड़े-बड़े नर्सिंग होमों में उनका चिकित्सा करवाया लेकिन वे स्वस्थ्य नहीं हो पाए।इसलिए वे अब पति को बेंगलुरु ले जाना चाहते है। लेकिन आर्थिक तंगी बाधा बन रही है।


इसीलिए अंकिता चक्रवर्ती ने सिलीगुड़ी टाइम्स के माध्यम से सिलीगुड़ी के सामर्थ्यवान लोगों से उनके पति को स्वस्थ करने और बेहतर चिकित्सा करवाने के लिए सहायता की अपील की है। जो सामर्थ्यवान लोग अंकिता चक्रवर्ती की सहायता करना चाहते वे (9679958629) इस नंबर पर संपर्क कर सकते है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.