कूचबिहार में व्यक्ति हुआ ऑनलाइन ठगी का शिकार, लगा 35 हजार का चूना

कूचबिहार,15 मई (नि.सं.)। साइबर क्राइम किस कदर बढ़ रहा इस बात से हम सभी वाकिफ हैं। आम लोगों से जुड़े ऑनलाइन ठगी के कई मामले आए दिन सामने आते रहते हैं, लेकिन हैरानी तब होती है जब इसके बावजूद भी लोग ठगी का शिकार हो जाते है। ऐसा हम इसलिए कह रहे हैं क्योंकि ऑनलाइन ठगी के एक ताजा मामला कूचबिहार के शीतलकुची से सामने आया है।


दरअसल कूचबिहार के शीतलकुची में एक व्यक्ति धोखाधड़ी का शिकार हो गए है। यहां जालसाजों ने व्यक्ति को लॉटरी में भारी मात्रा में रुपये जीतने का लालच देकर उससे 35 हजार रुपये की ठगी कर ली है। बताया गया है कि शीतलकुची ब्लॉक के आठारोकोटा गांव के निवासी फुलचन अधिकारी को टेलीकॉम कंपनी के नाम से एक अज्ञात नंबर से एक कॉल आई थी। कॉल पर उन्हें बताया गया कि उन्होंने लॉटरी में काफी पैसे जीते हैं। लॉटरी के रूपये लेने के लिए जालसाजों ने पहले उन्हें 35 हजार 500 रुपये भेजने को कहा। इसके बाद जालसाजों ने उन्हें ऑनलाइन कैफे में जाने की सलाह दी।

जालसाजों ने उसने कहा कि वह इस बारे में किसी को न बताएं।जिसके बाद जालसाजों के कहने पर उक्त व्यक्ति कैफे में जाकर रुपए भेजे। बाद में कैफे के मालिक ने फुलचन अधिकारी से रूपये मांगे तो उन्होंने कहा कि वह जिससे फोन पर बात कर रहे वह रूपये देंगे। यह बात सुनकर कैफे के मालिक हैरार हो गया।


इसके बाद पूरा मामला जानने के बाद कैफे का मालिक को समझ आया कि उक्त व्यक्ति के साथ ठगी हुई है। कैफे के मालिक सुमन साहा ने कहा कि फुलचन अधिकारी मेरे कैफे में आकर कहा कि सिलीगुड़ी के एक नर्सिंग होम में उनका रिश्तेदार भर्ती है। उसे रूपये भेजने है। उनके मुताबिक मैंने 35 हजार 500 रुपये दो किस्तों में भेजे। रुपये भेजते समय वह बार-बार दुकान से बाहर जाकर फोन पर बात कर रहे थे।

रूपये भेजने के बाद व्यक्ति से रूपये मांगने पर उन्होंने कहा कि जिस व्यक्ति वह फोन पर बात कर रहे है। वह यह रूपये देंगे। इसके बाद मुझे समझ में आया कि वह ठगी का शिकार हुए है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.