दुकान के कर्मचारियों ने ही मालिक को लगाया करोड़ों का चुना, पांच गिरफ्तार  

सिलीगुड़ी, 23 नवंबर (नि.सं.)। सिलीगुड़ी के एक जाने माने हार्डवेयर व्यवसायी श्री श्याम उद्योग के मालिक हर्ष गोयंका करोड़ों का चुना लगाने वाले पांच लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। व्यवसायी को चूना लगाने वाले उसके ही कर्मचारी निकले।  बताया जा रहा है कि श्री श्याम उद्योग में काम करने वाले प्रसनजीत और दीपक नामक दो कर्मचारी मिलकर करोड़ों रुपये का गबन कर लिया। जिसका पता हर्ष गोयंका को नवंबर महीने में पता चला। जिसके बाद 12 नवंबर को हर्ष गोयंका ने सिलीगुड़ी मेट्रोपोलिटन की पानीटंकी चौकी में इसकी शिकायत दर्ज की। 


 

शिकायत में अकाउंटेंट प्रसनजीत दत्त और दीपक अग्रवाल मिलकर सिलीगुड़ी के एक व्यवसायी बाबुल रशीद को ऑर्डर के हिसाब से करीब 10 करोड़ रुपये का डील हुआ। इस डील में प्रसनजीत और दीपक मोटी रकम गबन करने का प्लान किया। दोनों ने बाबुल रशीद को 10 करोड़ का सामान करीब 7 से 8 करोड़ रुपये में दे दिया। यहां तक की दोनों ने श्री श्याम उद्योग के अकाउंट में इस रकम को बकाया दिखाया। 


जब महीने तक रकम अकाउंट में नहीं आया तो हर्ष गोयंका ने व्यवसायी बाबुल रशीद के साथ पूछताछ किया। जिससे पूरा मामला खुल गया। जिसके बाद अकाउंटेंट प्रसनजीत दत्त और दीपक अग्रवाल के खिलाफ थाने में शिकायत दर्ज कराया। 

दर्ज शिकायत के बाद मामला डीडी तक पहुंची। जिसके बाद डीडी ने 15 नवंबर को दीपक अग्रवाल और प्रसनजीत दत्त को गिरफ्तार कर 7 दिनों की रिमांड पर लिया।

इधर, दोनों से पूछताछ पर दो और लोग मस्जिदुल इस्लाम और अमित चौधरी का नाम सामने आया। जिसे भी गिरफ्तार कर पुलिस रिमांड पर लिया गया। इसके बाद डील के बाद सामान खरीदने वाले व्यवसायी बाबुल रशीद को भी बिहार से गिरफ्तार किया गया। इन सभी से पूछताछ के बाद अब तक करीब 27 टन लोहा बरामद कर लिया गया। 

वहीं, आज डीडी की टीम ने इस घोटाले के मास्टर माइंड दीपक अग्रवाल और प्रसनजीत दत्त की रिमांड अवधि पूरी होने के बाद आज सिलीगुड़ी अदालत में पेश कर फिर से रिमांड पर लिया। 

डीडी सूत्रों के अनुसार यह घोटाला लंबे समय से चल रहा था। इसमें और भी लोगों के शामिल होने की संभावना है। जिस वजह से एक बार फिर से रिमांड पर लिया गया है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.