जीवित मरीज को मृत घोषित करने का आरोप

कूचबिहार, 11 जनवरी (नि.सं.)। एक बार फिर इलाज में लापरवाही के आरोपों को लेकर कूचबिहार मेडिकल कॉलेज-अस्पताल में तनाव देखा गया। जीवित व्यक्ति को मृत घोषित करने का आरोप मरीज के परिवार वालों की तरफ से लगाया गया है। हालांकि, अस्पताल प्रबंधन ने इस आरोप को गलत बताया है।


सूत्रों के अनुसार कूचबिहार-2 नंबर ब्लॉक के बानेश्वर इलाके में मछली पकड़ते वक्त बिजली का झटका लगने से विशाल बर्मन (17) नामक एक किशोर घायल हो गया था, जिसके बाद उसे कूचबिहार मेडिकल कॉलेज-अस्पताल ले जाया गया। आरोप है कि अस्पताल ले जाते ही चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

परिवार वालों का कहना है कि घटना के बाद अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड के बाहर दूध पिलाया गया था और उसने करीब 1 लिटर दूध पी लिया था। इसके बाद ही उसे अस्पताल के भीतर ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना के बाद मरीज के परिवार वालों ने अस्पताल परिसर में विरोध प्रदर्शन किया। बाद में पुलिस के हस्तक्षेप से परिस्थिति नियंत्रित हुई।


प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.