असामाजिक गतिविधियों पर अंकुश लगाने के लिए महानंदा अभयारण्य में बढ़ायी गयी निगरानी

सिलीगुड़ी, 25 मई (नि.सं.)। लाॅकडाउन के कारण शहर के विभिन्न जगहों में विभिन्न प्रकार की असामाजिक गतिविधियां बढ़ रही हैं। सुकना वन विभाग ने उक्त असामाजिक कार्य को रोकने के लिए कमर कस ली है।


वनविभाग के अनुसार हर साल महानंदा अभयारण्य के जंगल से दो-तीन पेड़ काटे जाते है एवं स्मगलिंग जैसी असामाजिक गतिविधियों की खबरें सामने आती रहती हैं। लेकिन इस साल ऐसी कोई खबर नहीं मिली है।लेकिन बाद में ऐसी असामाजिक कार्य न हो इस लिये अग्रिम कदम उठाये गये हैं। महानंदा अभयारण्य की सुरक्षा के लिये गश्त बढ़ाई गई है। 24 घंटे गश्त की जा रही है।

इस संबंध में दार्जिलिंग डिवीजन के एसिस्टैंड वाइल्ड लाइफ वार्डन जयंत मंडल ने कहा कि इस स्थिति में उनके पास खबर है कि जो लोग असामाजिक कार्यों में शामिल हैं, वे लोग थोड़ा ज्यादा सक्रिय हो गये हैं। इसी लिये जंगल के अंदर गश्त बढ़ा दी गई है और जंगलों में 24 घंटे निगरानी रखी जा रही है।


प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.