बांग्ला भाषा में सेवाएं प्रदान करने की मांग में बंगभंग प्रतिरोध मंच ने सिलीगुड़ी में एक राष्ट्रीयकृत बैंक के सामने किया विरोध प्रदर्शन

सिलीगुड़ी, 25 नवंबर (नि.सं.)। बांग्ला भाषा में सेवाएं प्रदान करने से कथित तौर पर इनकार करने के बाद बंगभंग प्रतिरोध मंच ने एक बैंक के अधिकारियों को वर्ण परिचय पुस्तक सौंपी।


पता चला है कि इसी महीने की 23 तारीख को हिलकार्ट रोड स्थित एक राष्ट्रीयकृत बैंक में एक ग्राहक ने बांग्ला में लेनदेन सेवा के बारे में बातचीत की थी। हालांकि, बैंक अधिकारियों ने सूचित किया कि प्रत्येक ग्राहक को सेवाएं प्राप्त करने के लिए हिंदी में बातचीत करनी होगी। ऐसे आरोप सामने आते ही आज बंगभंग प्रतिरोध मंच सड़कों पर उतरे है।

बंगभंग प्रतिरोध मंच के सदस्यों ने बैंक के सामने विरोध प्रदर्शन करते हुए बैंक प्रबंधन को एक ज्ञापन सौंपा। साथ ही उन्होंने बांग्ला भाषा में सेवाएं प्रदान करने की भी मांग की। वहीं, बंगभंग प्रतिरोध मंच ने बांग्ला भाषा सीखने के लिए बैंक अधिकारियों को वर्ण परिचय पुस्तिकाएं भी सौंपीं। शिकायतकर्ता भास्कर मजूमदार ने कहा कि "बैंक अधिकारियों ने मुझे हिंदी में बोलने के लिए मजबूर किया। मुझे अपमानित महसूस हुआ।"


बंगभंग प्रतिरोध मंच के संयोजक संजीव चक्रवर्ती ने कहा कि दुर्भाग्य से पश्चिम बंगाल में सभी बैंक कर्मचारी बांग्ला नहीं बोल पाते हैं। इतना ही नहीं बैंकों में विभिन्न प्रकार के नाम, दस्तावेज हैं जिनमें बांग्ला भाषा उपलब्ध नहीं है।

मामले की जानकारी विभिन्न विभागों को दी जाएगी। हम बंगाल के लोगों के अधिकारों की रक्षा करेंगे। इधर, बैंक अधिकारियों ने इस संबंध में कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.