मोजे में छुपाकर तस्करी के लिए ले जा रहा था सोना, एनजेपी स्टेशन से एक गिरफ्तार

सिलीगुड़ी,1 जुलाई (नि.सं.)। सोने की तस्करी का एक नया तरीका सामने आया है। जूता,बैंग कपड़े के बाद अब सोना तस्करी के लिए मौजा का इस्तमाल किया जा रहा है। ऐसा ही खुलासा डीआरआई ने किया है। सिलीगुड़ी डीआरआई यूनिट की टीम ने न्यू जलपाईगुड़ी स्टेशन पर अभियान चलाकर मौजा की आड़ में सोना तस्करी का पर्दाफाश किया। साथ ही सोना तस्करी करने के आरोप में एक व्यक्ति को भी गिरफ्तार किया गया।


आरोपी का नाम विकास कुमार (35) है। वह बिहार के गोपालगंज का निवासी बताया गया है। जानकारी मिली है कि इंडो-बंग्लादेश बॉर्डर के अगरतला से बिहार में सोना की तस्करी की योजना तैयार की गई थी। योजना के तहत विकास कुमार ने मौजा में सोना के बिस्कुट को छिपाकर अगरतला से त्रिपुरा सुंदरी एक्सप्रेस से बिहार के छपरा में तस्करी के लिए निकला था। इसकी खबर मिलते ही बीते कल सिलीगुड़ी डीआरआई यूनिट की टीम ने एनजेपी रेलवे स्टेशन पर तस्करी को रोकने के लिए अभियान चलाया और स्टेशन के 5 नंबर प्लेट फॉर्म पर त्रिपुरा सुंदरी एक्सप्रेस से विकास कुमार नामक एक व्यक्ति को हिरासत में लेकर उसकी तलाशी ली।

तलाशी के दौरान विकास कुमार के मौजा के अंदर से 11पीस सोना के बिस्कुट बरामद बरामद किए गए। जिसका कुल वजन1 किलो 628ग्राम आंका गया है। बरामद सोने की बाजार कीमत 94 लाख 72 हजार 985 रुपये है। आज डीआरआई की टीम ने सोना तस्करी के आरोप में विकास कुमार को सिलीगुड़ी अदालत में पेश किया है।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *