अफगानिस्तान से लौटे दार्जिलिंग के निवासी राजेश गुरुंग ने सुनाई बातबीती, कहा दहशत में है लोग

सिलीगुड़ी, 23 अगस्त (नि.सं.)। आतंकी संगठन तालिबान अफगानिस्तान पर अपना कब्जा जमा चुका है। मुल्क में हालात खराब हो चुके हैं। इस समय देश के हालात बेहद चिंताजनक हैं। हाथ में बंदूक थामे तालिबानी लड़ाके जिस पर चाहें गोलियां बरसा रहे हैंं। अफगानिस्तान के दर्द को बयां करती कई तस्वीरें सोशल मीडिया पर दुनिया को झगझोर रही हैं। भारत समेत कई देश अपने नागरिकों को इस नर्क से निकालने के लिए युद्धस्तर पर अभियान चला रहे हैं।


वहीं, आज दार्जिलिंग के एक अन्य निवासी राजेश गुरुंग राजेश गुरुंग कहा कि वहां डर का माहौल है। ये अब तक दिल-दिमाग में कौंध रहा है। अब वतन वापसी के बाद राहत मिली है। अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे के बाद वहां क्या कुछ हो रहा है, ये वही बता सकते हैं जिन्होंने इसका दंश झेला है।ने अफगानिस्तान से लौटने के बाद अपना दर्द साझा किया और तालिबान के जुर्म की दास्तान भी बताई।

वह लंबे समय तक अफगानिस्तान में काम कर रहे थे। उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि उन्हें इस तरह से वहां से भागना पड़ेगा। अफगानिस्तान से हवाई लिफ्ट से वह ताजिकिस्तान आये और वहां से भारत के नागरिकों को दिल्ली लाया गया। दार्जिलिंग के एक अन्य निवासी राजेश गुरुंग आज शाम बागडोगरा में उतरे। बागडोगरा में उतरने के बाद राहत मिली है।


दार्जिलिंग के कई निवासी आज बागडोगरा हवाईअड्डे पर उतरे। वे लोग अफगानिस्तान में काम करते थे। प्रशासन के सूत्रों के अनुसार दार्जिलिंग के लगभग 200 निवासी अफगानिस्तान में फंसे हुए थे। अगले कुछ दिनों में कई और लोगों को वापस लाया जाएगा।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.