विधानसभा चुनाव की रणनीति बनाने के लिए सिलीगुड़ी में भाजपा नेताओं का जमावड़ा

blank

सिलीगुड़ी, 11 अक्टूबर (नि.सं.)। सिलीगुड़ी में विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा नेता रणनीति बनाने में जुट गयी है।चुनाव से पहले आज पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ एक बैठक की गई। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस बैठक में चुनाव को लेकर किस तरीके की रणनीति होगी उसको लेकर चर्चा की गई। वहीं, आगामी 17 तारीख को पार्टी सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार गृह मंत्री अमिता शाह एक दिवसीय उत्तर बंगाल सफर पर आ रहे हैं।जिसमें वह सिलीगुड़ी में भी कई कार्यक्रम करेंगे।


इस बैठक में शामिल होकर हुगली से भाजपा सांसद लॉकेट चटर्जी राज्य के मुख्यमंत्री पर जमकर निशाना साधी। लॉकेट चटर्जी ने कहा कहा हाथरस की घटना को लेकर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी प्रदर्शन कर रही हैं। लेकिन मुख्यमंत्री अपना राज्य को छोड़ कर अन्य राज्य में राजनीति करने पहुंच रही है।बंगाल के राजगंज एवं विभिन्न जगहों पर लड़कियों के साथ लगातार दुष्कर्म की घटनाएं घट रही है।

उस जगह पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी रैली नहीं निकालती हैं। आवाज भी नहीं उठाती हैं। उत्तर प्रदेश की घटना को लेकर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी जितनी राजनीति कर रही है। वहीं, उन्होंने बंगाल की कानून व्यवस्था को लेकर भी कहा कि बंगाल कानून पूरी तरीके से चौपट हो चुकी है।साथ ही उन्होंने कहा कि बंगाल की जनता तृणमूल से उब गई है और भाजपा को चाहती।


दूसरी तरफ भाजपा के राज्य महासचिव सायंतन बसु ने कहा कि तृणमूल का अब कोई अस्तित्व नहीं बचा है।वह सिर्फ राजनीति कर रही है।आम जनता के विरोध में तृणमूल कांग्रेस खड़ी है। नवान्नो चलो अभियान पर भी उन्होंने कहा कि नवान्नो में जो घटना घटी है। वह काफी शर्मनाक है। साथ ही उन्होंने पर्यटन मंत्री गौतम देव को निशाने पर लेते हुए कहा कि गौतम देव कुछ भी कहे कोई फर्क नहीं पड़ता। क्योंकि गौतम देव अपने विधानसभा क्षेत्र में करीब 80 हजार वोटों से हारे हैं, और फिर भी राजनीति कर रहे हैं।जो नेता अपने क्षेत्र में चुनाव हार चुका है।

उसके बातों का कोई मतलब नहीं बनता है। इस बैठक में भाजपा के केंद्रीय कमिटी के सचिव अरविंद मेनन, केंद्रीय कमिटी के वाइस प्रेसिडेंट शिव प्रकाश, हुगली की सांसद लॉकेट चटर्जी, जलपाईगुड़ी के सांसद जयंतो राय, बालूरघाट के सांसद सुकांता मजूमदार, सांसद निशित प्रमाणिक, सांसद जॉन बार्ला और भाजपा के अन्य कार्यकर्ता उपस्थित थे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.