विभिन्न मांगों के समर्थन में आईएनटीटीयूसी ने आवाज की बुलंद

सिलीगुड़ी, 30 जुलाई (नि.सं.)। कोरोना महामारी में अस्थायी रेलवे कर्मचारियों ने अपनी जान जोखिम में डालकर काम करने के बावजूद उन्हें छंटनी करने की धमकी से सामना करना पड़ रहा है। साथ ही रेलवे विभाग ने विभिन्न भत्ते को कम करने का भी निर्णय लिया है।


इसी के प्रतिवाद में आज एनजेपी शाखा के श्रमिक संगठन आईएनटीटीयूसी आंदोलन पर उतरे है। गुरुवार को संगठन के अध्यक्ष प्रसेनजीत राय के नेतृत्व में एक रैली निकाल कर एडीआरएम ऑफिस के मुख्य अधिकारी को एक ज्ञापन सौंपा गया। संगठन के अध्यक्ष प्रसेनजीत राय ने कहा कि कर्मचारी पिछले 10 वर्षों से अस्थायी रूप से सफाई काम के साथ जुड़े हुए है।

कोरोना स्थिति में भी वे लोग अपनी जान जोखिम में डालकर काम कर रहे हैं।इसके बावजूद रेलवे विभाग ने अस्थायी कर्मचारियों की छंटनी करने का फैसला किया है। इतना ही नहीं बल्कि विभिन्न भत्ते को कम करने का निर्णय भी लिया है। इसी के प्रतिवाद में वे लोग आंदोलन कर रहे है। संगठन की ओर से कहा गया है कि यदि आने वालों दिनों में यह निर्णय को रद्द नहीं किया गया तो वे लोग एक बृहद आंदोलन करेेंगे।


प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.