दिहाड़ी मजदूर की बेटी ने उच्च माध्यमिक परीक्षा में लहराया परचम, 493 अंकों के साथ राज्य में छठा स्थान पर रही वर्षा परवीन

अलीपुरद्वार,10 जून (नि.सं.)। गरीबी और मुफलिसी के बावजूद कुछ करने की चाहत रखने वाले अपनी मंजिल ढूंढ ही लेते हैं। अलीपुरद्वार में वर्षा परवीन ने भी कुछ ऐसा ही कारनामा कर दिखाया है। वर्षा परवीन ने उच्च माध्यमिक में राज्य में छठा स्थान हासिल कर अपने परिवार के साथ-साथ शहर का नाम रोशन किया है। अलीपुरद्वार के सुदूर वनबस्ती इलाके के निवासी वर्षा शिलबाड़ी हाट हाई स्कूल की छात्रा है। उसे 493 अंक मिले है।


कला विभाग की छात्रा वर्षा के घर से स्कूल की दूरी करीब 7 किलोमीटर है। उसके पति मतियार रहमान दूसरे राज्य में दिहाड़ी मजदूरी का काम करते हैं। वर्षा के तीन भाई-बहन है। उनकी सफलता से पूरा गांव उत्सवमय हो गया है। उसकी सफलता से स्कूल के शिक्षक और सहपाठी में भी खुशी का माहौल देखा जा रहा है।

वर्षा ने कहा कि मुझे नहीं लगा था कि मैं टॉप टेन में आऊंगी। जब मैं टूट रही थी तब मेरे माता-पिता ने मुझे हिम्मत दी थी।शिक्षक भी मेरे साथ थे। मैं भविष्य में डब्ल्यूबीसीएस परीक्षा देना चाहती हूं।


दूसरी ओर,वर्षा की मां ने कहा कि वह वर्षा की सफलता से बहुत खुश हैं। पहले तो उसे विश्वास नहीं हुआ। उसकी बेटी ने बहुत मेहनत से पढ़ाई की। वर्षा के पिता मतियार रहमान ने कहा कि बहुत अच्छा लग रहा है।बेटी ने बड़ी मुश्किल से पढ़ाई की है। आज उसे उसकी मेहनत का फल मिला है।

वर्षा के स्कूल के प्रधानाध्यापक पीयूष कुमार राय ने कहा कि हमें बहुत गर्व है। यह बड़े गर्व की बात है कि वर्षा ने सुदूर ग्रामीण इलाके के एक गरीब परिवार की बेटी के रूप में सफलता हासिल की है। कॉलेज में दाखिले के लिए स्कूल की ओर से वर्षा की आर्थिक मदद की जायेगी।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.