कमर्शियल अनुमति मिलने पर ही इनलैंड कंटेनर डिपोट का होगा उद्घाटन

सिलीगुड़ी, 27 फरवरी (नि.सं.)। उत्तर बंगाल का पहला इनलैंड कंटेनर डिपोट 9 एकर जमीन  पर बन कर तैयार है। लेकिन अभी तक कमर्शियल अनुमति न मिलने के कारण बंद पड़ा है।आज एक पत्रकार सम्मेलन में सीआईआई के चेयरमैन संजीत साहा ने कहा कि साहुडांगी इलाके में 9 एकड़ जमीन पर इन लैंड डिपोट तैयार है। लेकिन उद्घाटन नहीं होने के कारण यह डिपोट बंद पड़ा है।


संजीत साह ने आगे कहा कि अगर यह डिपोट शुरू हो जाती है तो एक महीने में करीब 1500 इंनपोट होगी और 800 कंटेनर एक्सपोर्ट होगी। जिससे 4000 करोड़ रूपये का लाभ होगा। डिपोट बंद रहने के कारण रेलवे को प्रतिदिन 23 लाख 45 हजार रूपये का नुकसान हो रहा है। भारतीय रेलवे को अब तक करीब 100 करोड़ रूपये का नुकसान हो चुका है।

इस लिये सीआईआई ने इस व्यवसाय को शुरू करने के लिए दार्जिलिंग जिला सांसद राजू बिष्ट को जानकारी दी गई है एंव उन्होंने रेलवे मंत्री को एक चिट्टी भेजी है। वे लोग जल्द ही इस समस्या को हल करने की उम्मीद करते हैं। इसके अलावा व्यवसायी को फायर सेफ्टी या फायर अनुमति लेने के लिए अब कोलकाता नहीं जाना पड़ेगा। सीआईआई के पहल पर राज्य सरकार की सहयोगिता से सिलीगुड़ी फायर स्टेशन में डिप्टी डायरेक्टर का कार्यालय खुलने वाला है।


प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.