राजगंज के बरुआपाड़ा चाय बागान हुआ बंद

राजगंज, 14 अगस्त (नि.सं.)। राजगंज स्थित बरुआपाड़ा चाय बागान को बंद कर दिया गया। शुक्रवार को प्रबंधन ने सस्पेंशन ऑफ वर्क नोटिस देकर चाय बागान को बंद कर दिया। जिसके चलते उक्त बागान के करीब 100 श्रमिक संकट में आ गए हैं।


राजगंज के कुकुरजान ग्राम पंचायत अंतर्गत बरुआपाड़ा चाय बागान में तृणमूल कांग्रेस का श्रमिक संगठन है। पत्ते तोड़ने को लेकर मालिक और श्रमिकों बीच मतभेद हो गया। इसके बाद मालिक प्रबंधन ने सस्पेंशन ऑफ वर्क नोटिस बागान को बंद कर दिया।

चाय बागान के श्रमिक नेता मुशर्रफ हुसैन ने कहा कि श्रमिक रोज की तरह आज भी काम पर आये थे, लेकिन मालिक पक्ष में श्रमिकों को मशीन से पत्ते तोड़ने के लिये कहा। श्रमिक हाथ से चाय की पत्ती तोड़ेंगे और जरूरत पड़ने पर छुट्टियों में भी पत्ते तोड़ने को तैयार हैं। इसलिए वे मशीन से पत्ते तोड़ने को राजी नहीं हुए। लेकिन बागान प्रबंधन मशीन से पत्ते तोड़ने पर अड़े हुए हैं। इस घटना के बाद प्रबंधन ने श्रमिकों के द्वि-साप्ताहिक वेतन का भुगतान किए बिना बागान को बंद कर दिया। बागान खोले जाने के लिए जल्द ही जिला श्रम विभाग को आवेदन दिया जाएगा।


वहीं, बागान मालिक सोनी गोयल ने फोन पर कहा कि श्रमिकों की मांग को मान कर काम के बीच में एक घंटे की खाने की छूट्टी और काम का समय भी कुछ कम किया गया है।

कई सालों से श्रमिक हाथों से चाय पत्तियां तोड़ने के साथ-साथ मशीन से भी चाय पत्तियां तोड़ते थे, लेकिन आज श्रमिकों ने मशीन का इस्तेमाल करने के लिये राजी नहीं हुए। समय पर पत्ते नहीं तोड़े गये तो काफी नुकसान होगा, लेकिन श्रमिक नहीं माने इस लिये मजबूरन बागान को बंद करना पड़ा।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.