सिलीगुड़ी में 18 पीस विदेशी सोने के बिस्कुट के साथ दो गिरफ्तार

blank

सिलीगुड़ी, 14 सितंबर (नि.सं.)। कस्टम विभाग और डीआरआई ने गुप्त सूत्रों से मिली खबर के आधार पर संयुक्त अभियान चलाकर सोना तस्करी की योजना को विफल करते हुए 18 पीस विदेशी सोने के बिस्कुट के साथ दो लोगों को गिरफ्तार किया है। साथ ही एक वाहन को भी जब्त किया है।


आरोपियों के नाम अंकित जैन और गौरव जैन है। यह दोनों महाराष्ट्र के निवासी बताए गए हैं। कस्टम विभाग की टीम ने आज इन दोनों आरोपियों को तस्करी मामला के तहत सिलीगुड़ी अदालत में पेश करने पर न्यायाधीश ने दोनों आरोपियों को आगामी 28 तारीख तक न्यायिक हिरासत में रखने का निर्देश दिया है।सिलीगुड़ी कोर्ट से मिली जानकारी के अनुसार महाराष्ट्र के निवासी अंकित जैन और गौरव जैन यह दोनों म्यांमार से विदेशी सोना को लेकर मणिपुर से आसाम पहुंचे।

आसाम से सिलीगुड़ी होते हुए महाराष्ट्र के जलगांव में इस विदेशी सोना की तस्करी की योजना थी।लेकिन सिलीगुड़ी से महाराष्ट्र जाने की योजना से पहले ही कस्टम विभाग और डीआरआई ने गुप्त सूत्रों से मिली खबर पाकर चंपासारी मोड़ में संयुक्त अभियान चलाया और महाराष्ट्र नंबर (MH 19 CU 9477) के एक वाहन को रोका।तलाशी के दौरान वाहन से कस्टम विभाग की टीम ने चालक के सीट के नीचे छिपा कर रखे हुए गोल्ड बिस्कुट बरामद किये।


इसके बाद कस्टम विभाग की टीम ने वाहन में सवारदोनों लोगों को गिरफ्तार किया और उक्त वाहन को जब्त किया।बताया गया है कि विदेशी सोना के बिस्कुट को महाराष्ट्र के जलगांव में तस्करी करने की योजना थी। जब्त किये गये विदेशी सोना का वजन करीब 3किलो है। जब्त सोना और गाड़ी को मिलाकर बाजार मूल्य 1करोड़ 65 लाख रूपये आकी गई है।आज सिलीगुड़ी अदालत में इस मामले पर बचाव पक्ष के वकील अखिल विश्वास ने बताया कि उनके दोनों मुअकिल को गलत मामले में फंसाया गया है।

आज सिलीगुड़ी कोर्ट में न्यायाधीश प्रतिमा फिरदोस ने बचाओ पक्ष और सरकारी पक्ष की दलील को सुनने के बाद दोनों आरोपी अंकित जैन और गौरव जैन को आगामी 28 तारीख तक के लिए न्यायिक हिरासत में रखने का निर्देश दिया है।

दूसरी तरफ, सरकारी पक्ष के वकील का दावा है कि कस्टम ने दोनों आरोपी को सोना तस्करी के मामले में गिरफ्तार किया है और जब्त सोना के बिस्कुट पर फॉरेन मार्का है।आगामी 28 सितंबर को फिर से इस मामले पर सुनवाई होगी।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.